प्रकाशन

वृन्दावन शोध संस्थान विद्वानों के अनुसंधान के लिये सुविधाएँ प्रदान करता है। कई विद्वान इस संस्थान से अनुसंधान कार्य करने के लिए हिंदी और संस्कृत में पीएचडी की डिग्री से सम्मानित किये गये हैं। वी.आर.आई. ने कई शोध पुस्तकें प्रकाशित की हैं। संस्थान ने कई बुलेटिनों और महत्त्वपूर्ण संस्करणों को प्रकाशित किया है। संस्थान द्वारा हमारे पुस्तकालय के लिए संस्कृत पांडुलिपियों को 5 भागों में, हिन्दी पांडुलिपियों को 2 भागों में, पंजाबी, बांग्ला और माइक्रोफ़िल्माकंन की प्रत्येक पांडुलिपि को 1-1 भाग में प्रकाशित किया गया है। संस्थान साहित्य तथा तिमाही सांस्कृतिक पत्रिका “राज सेला” को भी प्रकाशित करता है। ब्रज की संस्कृति को बचाने तथा संरक्षित करने के लिए वृन्दावन शोध संस्थान विभिन्न कार्यों, जैसे- सांस्कृतिक कार्यक्रमों, सेमिनारों, प्रदर्शनियों तथा कार्यशालाओं का आयोजन आदि करता है।

बृज सलिला
वृन्दावन अनुसंधान संस्थान भारत, विशेषतः बृज के सांस्कृतिक पक्ष को उजागर करने व उसके संवर्धन हेतु एक त्रैमासिक पत्रिका प्रकाशित करता है। इस पत्रिका में संस्थान की गतिविधियों तथा संस्थान व इस क्षेत्र के सांस्कृतिक आयोजनों की विस्तृत रिपोर्ट भी प्रकाशित होती है। बृज सलिला की प्रति मंगाने के लिये हमें ‘लिखे’।

डा०एन०सी० बंसल द्वारा संपादित चन्द्रकला यह काव्य छोटा नागपुर (महाराष्ट्र) के प्रेमचन्द्र द्वारा रचित है। बृजभाषा की इस रचना में महाकवि तुलसीदास की शैली का अनुसरण किया गया है। यह रचना इस अर्थ में दुर्लभ है कि इसमें सौंदर्य एंव भक्ति दोनों का समावेश है। इसमें लोक एंव उच्च साहित्यिक परम्परा का समागम है। वर्ष १८०७ ई० की इस रचना की विस्तृत भूमिका तथा संलग्नक विद्वानों के लिये लाभदायक हैं। डा० (श्रीमती) कमलेश पारीक द्वारा सम्पादित श्रृंगार सरसी रस संस्कृत रचना का विषय नायिका भेद है। इसकी पाण्डुलिपि जयपुर के प्रवंकर संग्रह से प्राप्त हुई है। संपादक ने मूल पाठ का सरल शैली में अनुवाद किया है।

वर्ष 1968 में अपने स्थापना काल से ही संस्थान द्वारा शोध अध्येता, संस्कृति प्रेमी विज्ञजनों और ब्रज में आने वाले पर्यटकों की सुविधार्थ संस्कृति अध्ययन की विविधतापरक दृष्टि से महत्वपूर्ण प्रकाशन किये गये हैं। विगत 05 दशकों की शोध यात्रा में संस्थान ने अपने संग्रह में विद्यमान बंगला, संस्कृत, ब्रजभाषा गुरूमुखी आदि पांडुलिपियों का सूचीकरण [Cataloguing]  करने के साथ ही अनेक महत्वपूर्ण ग्रंथों का प्रकाशन ख्यातिलब्ध विद्वानों के सहयोग से समय-समय पर किया। इस दिशा में अनुभाग ने वर्तमान तक अपने प्रकाशनों की गौरवशाली परंपरा स्थापित की है।

वृन्दावन शोध संस्थान के प्रकाशन

क्रम सं. प्रकाशनप्रकाशन वर्षसंपादक/ISBN No.मूल्य50% छूटपृष्ठ संख्याप्रकाशन फोटोग्राफ्स
Catalogue/सूची
01-A Catalogue of Sanskrit Manuscripts Part-I Preview1976श्री रामदास गुप्त
जे.सी. राइट
Sh. R.D. Gupta
Sh. M.L. Gupta
95/-47.50
Out of Print
409PUBLICATION
02-A Catalogue of Sanskrit Manuscripts Part-II Preview1978श्री रामदास गुप्त
जे.सी. राइट
Sh. R.D. Gupta
J.C. Wright
110/-55/- 459PUBLICATION
03-A Catalogue of Sanskrit Manuscripts Part-III Preview1981श्री रामदास गुप्त
जे.सी. राइट
Sh. R.D. Gupta
J.C. Wright
125/-62.50/-694PUBLICATION
04-A Catalogue of Sanskrit Manuscripts Part-IV Preview1985श्री रामदास गुप्त
आर.सी. शर्मा
Sh. R.D. Gupta
R.C. Sharma
175/-87.50/-694PUBLICATION
05-A Catalogue of Sanskrit Manuscripts Part-V Preview1991श्री रामदास गुप्त
आर. शास्त्री
Sh. R.D. Gupta
R. Shastri
225/-112.50/-704PUBLICATION
06-A Catalogue of Sanskrit Manuscripts Part-VI Preview2010श्री भवानी शंकर शुक्ल
श्री हरिमोहन मालवीय
Sh. B.S. Shukla
Sh. Harimohan Malviya
800/-400/-659PUBLICATION
07-A Catalogue of Hindi Manuscripts Part-I Preview1979श्री रामदास गुप्त
श्री एम.एल. गुप्त
Sh. R.D. Gupta
Sh. M.L. Gupta
65/-32.50/-287PUBLICATION
08-A Catalogue of Hindi Manuscripts Part-II Preview1990श्री रामदास गुप्त
डॉ एन.सी. बंसल
Sh. R.D. Gupta
Dr. N.C. Bansal
180/-90/-416PUBLICATION
09-A Catalogue of Bengali Manuscripts Part-I Preview1978श्री तारापद मुखर्जी
Sh. T.P. Mukherjee
150/-75/-228 PUBLICATION
10-A Catalogue of Punjabi Manuscripts Part-I Preview1996श्री अमृतलाल टक्कर
Sh. Amrit Lal Takkar 
175/-87.50/-97PUBLICATION

Books/पुस्तकें
01-ब्रज की रासलीला
Braj ki Rasleela

पूर्ण शोधपरक यह ग्रंथ रासलीला के उद्भव एवं विकास को लक्ष्य कर सृजित किया गया है। जिज्ञासु, अन्वेषक,शोधार्थी, विद्वानों तथा ब्रज के रास-प्रेमियों के लिए यह पुस्तक अत्यन्त उपयोगी है। Preview 
1983श्री प्रभुदयाल मीतल
Prabhu Dayal Mittal
97881-904946-1-8
600/-300/-449PUBLICATION
02-दशश्लोकी (सटीक)
Dashashloki
श्री निम्बार्काचार्य कृत वेदान्त दर्शन पर आधारित दस श्लोकों का सटीक अनुवाद एवं शोधपरक विवेचन इस पुस्तक में किया गया है। टीकाकार नन्ददास हैं। ग्रन्थ का लिपिकाल 1891 ई. है। Preview
1985डॉ. कमलेश पारीक
Dr. Kamlesh Pareek
30/-15/-90PUBLICATION
03-केवलराम कृत रासमान के पद
Rasman ke Pad by Keval Ram
इस पुस्तक में पुष्टिमार्गीय अष्टम गद्दी के आचार्य श्री केवलराम जी द्वारा डेरागाजीखान में रचित ब्रजभाषा के रासलीला-पदों का संकलन है। लिपिकाल 1876 ई.है। Preview
1986प्रो. एलन एंट्विसिल
Prof. Alan Entwistle
हिन्दी संस्करण
30/-
हिन्दी संस्करण
15/-
62PUBLICATION
English Ed.
45/-
English Ed.
22.50/-
62
04-स्वामी चरणदास कृत रहस्य दर्पण एवं रहस्य चन्द्रिका
Rahasya Darpan &Rahasya Chandrika
हरिदासी संप्रदायानुयायी स्वामी चरणदास जी द्वारा श्रीराधाकृकृष्ण की दिव्य शृंगार रसपरक निकुंजोपासना की गूढ़ परम्परानुसार सृजित दो ग्रन्थों का एक संपूर्ण तात्विक विवेचन, रसदर्शन सहित शोधात्मक दृष्टि से किया गया है। Preview
1987डॉ. रामदास गुप्त एवं
डॉ. शरण  बिहारी गोस्वामी
Dr.R.D.Gupta &
Dr. Sharan Bihari Goswami
पेपरबैक 
45/-
पेपरबैक 
22.50/-
95PUBLICATION
Hard Bound
60/-
Hard Bound
30/-
95
05-रसिक कर्णाभरण (लीला)
Rasik Karnabharan [Leela]
इस पुस्तक में स्वामी मनोहरदासजी द्वारा ब्रजभाषा में रचित छन्दबद्ध कृष्णलीला चिन्तन है। विविध छन्दों का प्रयोग शोधात्मक दृष्टि से उत्तम है। लिपिकाल वि.सं. 1840 है। Preview
1988डॉ. नरेशचंद्र बंसल
Dr.Naresh Chandra Bansal
पेपरबैक 
40/-
पेपरबैक 
20/-
110PUBLICATION
Hard Bound
60/-
Hard Bound
30/-
110
06-स्मरण दर्पण
Smaran Darpan
श्रीरामचन्द्र कविराज कृत ब्रजबुलि में गुरु महिमा एवं वृन्दावन की निकुंज लीला ध्यान की पुस्तक का सरल हिन्दी में अनुवाद एवं टिप्पणी है। लिपिकाल 17 वीं शताब्दी है। Preview
1989श्री गोपालचन्द्र घोष
Sh. Gopal Chandra Ghosh
पेपरबैक 
25/-
पेपरबैक 
12.50/-
43PUBLICATION
Hard Bound
35/-
Hard Bound
17.50/-
43
07-यमुना एवं यमुनाष्टक (द्वितीय परिवर्धित संस्करण)
Yamuna Evam Yamunashtak [Revised Edition]
विभिन्न विद्वानों एवं आचार्यों द्वारा रचित यमुनाष्टकों की सटीक व्याख्या तथा यमुना के उद्भव एवं विकास का वैदिक, पौराणिक एवं भौगोलिक विश्लेषण सहित शोधपूर्ण ग्रन्थ है। Preview
2015श्री वृन्दावनविहारी
Sh. Vrindavan Bihari
500/-250/-280PUBLICATION
08-छन्दःकौस्तुभ
Chhanda Kaustubh
पं.राधादामोदरदास रचित छन्द कौस्तुभ नामक ग्रन्थ का अनुवाद तथा छन्द शास्त्र के विविध आयामों के दृष्टिकोण से सटीक विवेचन किया गया है। इसके टीकाकार गौड़ीय सम्प्रदाय के मूर्धन्य टीकाकार पं. बल्देव विद्याभूषण हैं। लिपिकाल सन् 1770 है। Preview
1983डॉ. कमलेश पारीक
Dr. Kamlesh Pareek
पेपरबैक 
175/-
पेपरबैक 
87.50/-
233PUBLICATION
Hard Bound
250/-
Hard Bound
125/-
233
09-मथुरा माहात्म्य
Mathura Mahatmya
वाराहपुराण के अन्तर्गत मथुरा माहात्म्य के श्लोकों का हिन्दी में अनुवाद किया गया है। सम्पूर्ण व्याख्या के साथ मथुरा का ऐतिहासिक तथा भौगोलिक स्थिति निरूपण भी इसमें सम्मिलित है। Preview
1994डॉ. उमा भास्कर
Dr. Uma Bhaskar
पेपरबैक 100/-पेपरबैक 50/-103PUBLICATION
Hard Bound
125/-
Hard Bound
112.50/-
103
10-वृन्दावन इन वैष्णव लिट्रेचर
Vrindavan in Vaishnava Literature
It deals with Various kinds of meditation on Vrindavan lila and complete analysis according to different sects. Preview
1995डॉ. एम. कोरकोरन
Dr. M.Corcoran
ISBN : 81-246-0024-4
English Ed.
350/-
English Ed.
175/-
Out of Print
178PUBLICATION
11-ब्रज की लोककथाएँ
Braj Ki Lok Kathayen
ब्रज क्षेत्र में विशेषकर महिलाओं द्वारा वर्षभर के विभिन्न पर्वोत्सवों पर कही-सुनी जाने वाली लोक-कथाओं का ब्रजभाषा में संग्रह एवं शोधपरक अध्ययन। Preview
1995डॉ. ब्रजभूषण चतुर्वेदी
Dr. Brajbhusan Chatuvedi
पेपरबैक 
160/-
पेपरबैक 
80/-
93PUBLICATION
Hard Bound
180/-
Hard Bound
90/-
93
12-An Early Testamentary
Sanskrit documents by Shrila Jiva Goswami about temples and manuscripts etc. [V.S. 1663] Preview
1979 तारापद मुखर्जी,            प्रो. जे.सी.राइट
Sh. Tarapad Mukherjee & Prof.
J.C. Wright
10/-5/-28PUBLICATION
13-श्रीगोपाल पाठावली
Sri Gopal Pathavali
इस पुस्तक में विभिन्न प्रकाशित एवं अप्रकाशित स्तोत्र,कवच, पटलों का शोधित एवं सचित्र संकलन है। Preview
1999श्री चन्द्रधर त्रिपाठी एवं
श्री गोपाल चन्द्र घोष
Sh. Chandradhar Tripathi &
Sh. Gopal Chandra Ghosh
पेपरबैक 
40/-
पेपरबैक 
20/-
82PUBLICATION
Hard Bound
100/-
Hard Bound
50/-
82
14-श्रृंगार सरसी
Shringar Sarsi
श्री भाव मिश्र कृत नायक-नायिका भेद पर आधारित श्रृंगार रस परक सचित्र काव्य शास्त्रीय ग्रन्थ का अनुवाद एवं सम्पादन इस पुस्तक में किया गया है। काव्य शास्त्र के अध्येताओं के लिए अत्यन्त उपयोगी। (लिपिकाल वि.सं. 1943) Preview
2001डॉ. कमलेश पारीक
Dr. Kamlesh Pareek
300/-150/-164PUBLICATION
15-चन्द्रकला
Chandrakala
हिन्दी भाषी क्षेत्र महाराष्ट्र के सुकवि प्रेमचन्द्र प्रणीत चन्द्रकला एक लोकाश्रित प्रेमाख्यान ग्रन्थ है। यह काव्य ग्रन्थ दाम्पत्य सम्बन्धों की पवित्रता और शुद्धता का अमर संदेश देता है। (लिपिकाल वि.सं. 1853) Preview
2003डॉ. नरेशचंद्र बंसल
Dr. Naresh Chandra Bansal
350/-175/-264PUBLICATION
16-राधिका पाठावली
Radhika Pathavali
ब्रज की अधिष्ठात्री देवी एवं श्रीकृष्ण की आह्लादिनी शक्ति श्रीराधा की स्तुतियाँ, कवच और सहस्त्रनाम आदि को संगृहीत कर यह पुस्तक तैैयार की गयी है। Preview
2003श्री गोपाल चन्द्र घोष
Sh. Gopal Chandra Ghosh
100/-50/-
Out of Print
104PUBLICATION
17-वैष्णव तिलक
Vaishnav Tilakas
‘Tilak’ is a sectarian mark born by the followers of various faiths. This book throws light on the religious principles and virtues of different Tilakas- Written by an eminent scholar and admirer of Indian Culture specially Braj. The book is richly illustrated. Preview
2003प्रो. ए.डब्ल्यू एंटिवसिल
Prof. A.W. Entwistle
Revised Edition
श्री आर.डी.पालीवाल
डॉ. ब्रजभूषण चतुर्वेदी
Sh. R.D. Paliwal
Dr. Brajbhushan Chaturvedi
Hard Bound
150/-
Hard Bound
75/-
134PUBLICATION
18-गोधूलिबेला (डॉ.रामदास गुप्त का कविता संकलन)
Godhuli Bela  [A Poetic collection by Dr.R.D.Gupta]
वृन्दावन शोध संस्थान के संस्थापक डॉ.रामदास गुप्त द्वारा गोधूलिबेला को केन्द्रित कर रची शंृगार-रसपरक हिन्दी कविताओं का संकलन। Preview
2003डॉ. नरेशचंद्र बंसल
Dr. N.C. Bansal
Hard Bound
250/-
Hard Bound
125/-
109PUBLICATION
19-गीत गन्धा (गीत संकलन)
Geet Gandha  [A Poetic collection]
डॉ.ब्रजभूषण चतुर्वेदी दीपक द्वारा विभिन्न विषयों पर रचित गीतों का संकलन। Preview
2004डॉ. ब्रजभूषण चतुर्वेदी
Dr. B.B.Chaturvedi
Hard Bound
100/-
Hard Bound
50/-
72PUBLICATION
20-Recent Advances of Conservation of Manscripts
Papers of eminent scholars presented on Manuscript Conservation at a seminar held at VRI. Preview
2003प्रो. गोविन्द शर्मा
Prof. Govind Sharma
Hard Bound
175/-
Hard Bound
87.50/-
120PUBLICATION
21-श्रीनृसिंह पाठावली
Shri Nrisimha Pathavali
संस्थान में संगृहीत पांडुलिपियों में भगवान् नृसिंह के स्तोत्रों, श्लोकों आदि का पाठोपयोगी संकलन। विभिन्न क्षेत्रों में स्थापित नृसिंह प्रतिमाओं के चित्रों सहित। Preview
2005डॉ. उमारमण झा
श्री गोपाल चन्द्र घोष
Dr. Uma Raman Jha &
Sh. Gopal Chandra Ghosh
300/-150/-106PUBLICATION
 22- गीत ब्रज वसुन्धरा के
Geet Braj Vasundhara Ke
ब्रजांचल में विभिन्न अवसरों पर गाए जाने वाले लोकगीतों का शोधपरक संकलन। Preview
 2007 डॉ. सरोजिनी कुलश्रेष्ठ
Dr. Sarojini Kulashreshtha
ISBN : 978-81-904946-0-1
 250/- 125/-199PUBLICATION
23-श्रीमद्भागवत दिव्य दर्शन
Shrimad Bhagwat Divya Darshan
श्रीमद्भागवत ग्रन्थ का डॉ. भटनागर द्वारा किया गया सार-संग्रह। Preview
2005डॉ. रजनी भटनागर
Dr. Rajni Bhatnagar 
80/-40/-48PUBLICATION
24-चित्रित पोस्टकार्ड
Illustrated Postcard
स्थान में संगृहीत दुर्लभ पेटिंग्स पर आधारित 10 पोस्टकार्डों का सेट। Preview
60/-60/- PUBLICATION
25-स्वस्ति संकल्प (डॉ. रामदास गुप्त स्मृति ग्रंथ)Svasti Sankalpa
A memorial volume dedicated to [Dr. R.D. Gupta the founder of VRI] containing articles of eminent scholars on various aspects of Indology. Preview
2010-11श्री भवानीशंकर शुक्ल
Sh. Bhawani Shankar Shukla 
500/-250/-352PUBLICATION
26-भारत भाव रूप श्रीकृष्ण
Bharat Bhav Roop Sri Krishna
संस्थान में सम्पन्न राष्ट्रीय संगोष्ठी में विख्यात विद्वानों द्वारा कृष्ण के विविध आयामों पर प्रस्तुत शोधपत्रों का संकलन। Preview
2011श्री भवानीशंकर शुक्ल
Sh. Bhawani Shankar Shukla
ISBN : 978-81-904946-2-5
500/-250/-398PUBLICATION
27-आधुनिक हिन्दी कविता में राधा कृष्ण
Aadhunik Hindi Kavita mein Radha Krishna
आधुनिक हिन्दी काव्य में राधा कृष्ण की विविध रूपों में व्याप्ति का शोधपरक विवेचन। Preview
2011-12डॉ. ओंकार त्रिपाठी
Dr. Omkar Tripathi
ISBN : 978-81-904946-4-9
500/-250/-270PUBLICATION
28-लघु सिद्धान्त कौस्तुभ
Laghu Siddhant Kaustubh
संस्कृत व्याकरण के अध्येताओं के लिए उपयोगी ग्रन्थ। Preview
2011-12डॉ. प्रमोद कुमार शर्मा
Dr. Pramod Kumar Sharma
ISBN : 978-81-904946-6-3
पेपरबैक 
120/-
पेपरबैक 
60/-
60PUBLICATION
Hard Bound
180/-
Hard Bound
90/-
60
29-वृन्दावन के श्रीरंग मंदिर का श्रीब्रह्मोत्सव
Vrindavan Ke Shri Rang Mandir ka Sri Brahmotsav
वृन्दावन में दक्षिण भारतीय शैली में निर्मित श्रीरंग मंदिर के विख्यात ब्रह्मोत्सव (रथ का मेला) के सम्बन्ध में शोधपरक जानकारी से युक्त प्रकाशन। Preview
2011-12डॉ. राजेश शर्मा
Dr. Rajesh Sharma
ISBN : 978-81-904946-5-6
पेपरबैक 
75/-
पेपरबैक 
75/-
36PUBLICATION
Hard Bound
75/-
Hard Bound
75/-
36
30-वृन्दावन की फूल बंगला कला
Vrindavan ki Phool Bangla Kala
वृन्दावन के मन्दिरों, लीला मंचों आदि पर कलात्मक रूप से बनाए जाने वाले पारम्परिक फूल-बंगला के सम्बन्ध में निर्माण, सज्जा, कलाकारों आदि का तथ्यपरक विवेचन। Preview
2011-12डॉ. महेश नारायण शर्मा
डॉ. राजेश शर्मा
Dr. M.N. Sharma
Dr. Rajesh Sharma
ISBN : 978-81-904946-3-2
पेपरबैक 
50/-
पेपरबैक 
50/-
55PUBLICATION 
Hard Bound
50/-
Hard Bound
50/-
55
31-वृन्दावन की मल्ल विद्या परम्परा
Vrindavan ki Mallah Vidhya Prampra
स्थानीय मल्लविद्या के विविध पक्षों, पारिभाषिक शब्दावली, अल्पज्ञात-अज्ञात दस्तावेजी स्त्रोतों एवं लोक की वाचिक परम्परा में विद्यमान महत्त्वपूर्ण तथ्यों पर केन्द्रित शोधपरक सर्वेक्षण कार्य। Preview
2012-13डॉ. राजेश शर्मा
Dr. Rajesh Sharma
ISBN : 978-81-904946-7-0
पेपरबैक 
150/-
पेपरबैक 
75/-
88PUBLICATION
Hard Bound
190/-
Hard Bound
95/-
88
32-ब्रज की तुलसी कंठीमाला
Braj ki Tulsi Kanthi Mala
ब्रज में तुलसी का महत्व स्थानीय लोक परम्परा में कण्ठीमाला तुलसी काष्ठ से बनी कण्ठियों का वैविध्य,पुराणों सहित स्थानीय देवालयी अल्पज्ञात अज्ञात दस्तावेजों में उक्त विषयक उल्लेख कण्ठियों के आकार प्रकार एवं उपयोगिता पर केन्द्रित शोधपरक कार्य। Preview
2012-13डॉ. महेश नारायण शर्मा
डॉ. राजेश शर्मा
Dr. M.N. Sharma
Dr. Rajesh Sharma
ISBN : 978-81-904946-9-0
पेपरबैक 
90/-
पेपरबैक 
45/-
59PUBLICATION
Hard Bound
140/-
Hard Bound
70/-
59
33-ब्रज की साँझी
Braj ki Sanjhi
ब्रज की लोक एवं देवालयी परम्परा में साँझी के अल्पज्ञात-अप्रकाशित पक्षों तथा समग्र परम्परा के शोधपरक दस्तावेजीकरण से युक्त सचित्र प्रकाशन। Preview
2014-15डॉ. महेश नारायण शर्माडॉ. राजेश शर्मा
Dr. M.N. Sharma
Dr. Rajesh Sharma
ISBN : 978-81-935048-1-9
Hard Bound
200/-
Hard Bound
100/-
146PUBLICATION
34-भारतीय लोकवार्ता में श्रीकृष्ण
Bhartiya Lokvarta main Sri Krishna
भारत की आंचलिक संस्कृति में श्रीकृष्ण के व्यक्तित्व तथा व्याप्ति पर आधारित त्रि-द्विवसीय राष्ट्रीय संगोष्ठी भारतीय लोकवार्ता में श्रीकृष्ण विषयक शोधपत्रों का संकलन। Preview
2014श्री भवानीशंकर शुक्ल एवं
डॉ. महेश नारायण शर्मा
Sh. Bhawani Shankar Shukla &
Dr. M.N. Sharma
ISBN : 978-81-904946-8-7
Hard Bound
450/-
Hard Bound
225/-
356PUBLICATION
35-तानसेन कृत रागमाला
Tansen : Raag Mala
अकबर के दरबारी नवरत्न तानसेन की रचना रागमाला के, पाण्डुलिपियों पर आधारित पाठान्तर एवं पाठ निर्धारण से युक्त शोधपरक प्रकाशन। Preview
2015श्री हरिमोहन मालवीय
Sh. Harimohan Malviya
ISBN : 978-81-904946-8-7
Hard Bound
200/-
Hard Bound
100/-
75PUBLICATION
36-ब्रज की पुस्तक ठौर और उसका सूची पत्र (एक सांस्कृतिक अध्ययन)
Braj ki Pustak Thor aur Uska Suchi Patra [Ek Sanskritik Adhyayan]
भारत में पाण्डुलिपियों के सूचीकरण ख्ब्ंजंसवहनम, की परम्परा का क्रमिक विकास तथा 16वीं शताब्दी में चैतन्य महाप्रभु की परम्परा से जुड़े गौड़ीय आचार्यों के द्वारा ब्रज-वृन्दावन में स्थापित अल्पज्ञात पाण्डुलिपि ग्रन्थागार और उसके अप्रकाशित सूची पत्र (कैटलॉग) पर केन्द्रित सन्दर्भों की खोज एवं ब्रज की तत्कालीन ज्ञान परम्परा के सांस्कृतिक अध्ययन पर एकाग्र। Preview
2016-17श्रीमती प्रगति शर्मा
Smt. Pragati Sharma
ISBN : 978-81-935048-0-2
150/-75/-120PUBLICATION
37-नृसिंह चम्पू
Narsingh Champu
भगवान नृसिंह के स्तोत्र का सानुवाद विवेचन। Preview
2016-17डॉ. उमा भास्कर
Dr. Uma Bhaskar
75/-37.50/-68PUBLICATION
38-ब्रज के पर्वोंत्सव
Braj ke Parvotsava
ब्रज के पर्वोत्सवों पर आधारित शोधपरक प्रकाशन। Preview
2016-17श्रीमती वेणु शर्मा
Smt. Venu Sharma
150/-75/-99PUBLICATION
39-ब्रज संस्कृति विश्वकोश-प्रथमखंड (दो भागों में)
Encyclopedia of Braj Culture – Ist Vol. 2 Part
ब्रज के इतिहास, पुरातत्त्व, भूगोल, समाज आदि पर एकाग्र। Preview
2015प्रो. सूर्यप्रसाद दीक्षित
Prof. Suryaprasad Dixit
(Series)
978-93-81406-44-1 
ISBN : 978-93-81406-45-8
2200/-1100/-476/
998
PUBLICATION
PUBLICATION
40-ब्रज संस्कृति विश्वकोश-द्वितीयखंड (दो भागों में)
Encyclopedia of Braj Culture – IInd Vol. 2 Part
ब्रज के धर्म सम्प्रदायों पर एकाग्र शोधपरक प्रकाशन Preview
2018प्रो. सूर्यप्रसाद दीक्षित
Prof. Suryaprasad Dixit
(Series)
978-93-81406-44-1 
ISBN : 978-93-81406-84-7 
2200/-1100/-396/
764
PUBLICATION
PUBLICATION
41-ब्रज संस्कृति विश्वकोश तृतीयखंड (दो भागों में)
Encyclopedia of Braj Culture – IIIrd Vol. 2 Part
ब्रजभाषा साहित्य एवं लोक साहित्य पर एकाग्र प्रकाशन। Preview
2019प्रो. सूर्यप्रसाद दीक्षित
Prof. Suryaprasad Dixit
ISBN : 978-81-935048-5-7 
2200/-1100/-314
717
PUBLICATION
PUBLICATION
42-ब्रज संस्कृति विश्वकोश चतुर्थखंड
Encyclopedia of Braj Culture – IV Vol.
ब्रज की लोक कलाओं पर एकाग्र प्रकाशन। Preview
2019प्रो. सूर्यप्रसाद दीक्षित
Prof. Suryaprasad Dixit
ISBN : 978-81-935048-7-1
1100/-550/-365PUBLICATION
43-पांडुलिपियों की क-ख-ग
Pandulipiyon ki KA-KHA-GA
मुद्रण तकनीकी [Printing Technology] से पूर्व हस्तलिखित ग्रंथों के युग में प्रचलित संकेताक्षरों, लेखन प्रविधि, शब्दांक, काल निर्धारण पद्यति प्रतिलिपिकार एवं नागरी लिपि की पोथियों से जुड़ी विविधताओें के अध्ययन पर एकाग्र। Preview
2018-19श्रीमती प्रगति शर्मा
Smt. Pragati Sharma
ISBN : 978-81-935048-2-6
100/-50/-67PUBLICATION
44-ब्रजभाषा गद्य के अप्रसारित संदर्भ
Brajbhasha Gadh ke Aprasarit Sandrabh
ब्रजभाषा साहित्य की समृद्ध परम्परा के अन्तर्गत गद्य विषयक अल्पज्ञात एवं अप्रकाशित सन्दर्भों के सर्वेक्षण,प्रलेखन तथा प्रकाशन पर केन्द्रित शोध परियोजना। Preview
2018-19डॉ. राजेश शर्मा
Dr. Rajesh Sharma
ISBN :  978-81-935048-3-3
120/-60/-105PUBLICATION
45-स्वामी दामोदरदास ग्रंथावली
Swami Damodar Das Granthavali
ब्रजभाषा साहित्य की समृद्ध परम्परा के अन्तर्गत गद्य विषयक अल्पज्ञात एवं अप्रकाशित सन्दर्भों के सर्वेक्षण,प्रलेखन तथा प्रकाशन पर केन्द्रित शोध परियोजना। Preview
2018-19डॉ. राजेश शर्मा
Dr. Rajesh Sharma
ISBN :  978-81-935048-4-0
170/-85/-382PUBLICATION
46-नारी लेखिकाओं के हिन्दी उपन्यास
Nari Lakhikao Ke Hindi Upanayas
ब्रजभाषा साहित्य की समृद्ध परम्परा के अन्तर्गत गद्य विषयक अल्पज्ञात एवं अप्रकाशित सन्दर्भों के सर्वेक्षण,प्रलेखन तथा प्रकाशन पर केन्द्रित शोध परियोजना। Preview
2020-21डॉ. अम्बिका उपाध्याय
Dr. Ambika Upadhyay
ISBN : 978-81-954239-4-1
462/-462/-295PUBLICATION
47-ब्रज के संस्कार गीत
Braj Ke Sanskar Geet
ब्रज के संस्कार गीतों का संकलन। Preview
2020-21डॉ. ब्रजभूषण चतुर्वेदी ‘दीपक’
(सर्वे) डॉ. सीमा मोरवाल
Dr. B.B. Chaturvedi
Dr. Seema Morwal
ISBN : 978-81-935048-8-8
120/-120/-104PUBLICATION
48-ब्रज के देवी गीत
Braj Ke Devi Geet
ब्रज के देवी गीतों का संकलन। Preview
2020डॉ. ब्रजभूषण चतुर्वेदी ‘दीपक’
Dr. B.B. Chaturvedi
ISBN : 978-81-935048-8-8
120/-60/-125PUBLICATION
49-ब्रज-गीता
Braj Geeta
श्रीमद्भगवद्गीता ब्रजभाषा काव्यानुवाद। Preview
2021डॉ. ब्रजभूषण चतुर्वेदी ‘दीपक’
Dr. B.B. Chaturvedi
ISBN : 978-81-954239-6-5
135/-135/-234PUBLICATION
50-ब्रज की होली
Braj Ki Holi 
ब्रज संस्कृति में होलिकोत्सव परम्परा के सांस्कृतिक अध्ययन पर केन्द्रित। Preview  
2021डॉ. ब्रजभूषण चतुर्वेदी ‘दीपक’
Dr. Rajesh Sharma
ISBN : 978-81-954239-5-8
200/-200/-288PUBLICATION
51-मास्टरपीसेज ऑफ ब्रज संस्कृति संग्रहालय वृन्दावन शोध संस्थान
Masterpieces of Braj Culture Museum Vrindavan Research Institute 
धर्म, दर्शन, साहित्य, कला एवं संस्कृति पर केन्द्रित विवरणात्मक कैटलॉग Preview
2022डॉ. वी.के. माथुर
श्रीमती ममता कुमारी
Dr. V.K. Mathur
Smt. Mamta Kumari
500/-500/-68PUBLICATION
52-ब्रज लोक के दई-देवता व उनके गीत
Braj Lok Ke Daee-Devta Va Unake Geet 
ब्रज लोक संस्कृति से सम्बन्धित देवी-देवताओं पर आधारित गीतों का संकलन। Preview
2022डॉ. सीमा मोरवाल
Dr. Seema Morwal
ISBN-978-81-954239-0-3
150/-150/-238PUBLICATION
53-तानसेन कृत राग माला
Raag Mala of Taansen
Preview
2022हरिमोहन मालवीय एवं श्री वृंदावन बिहारी गोस्वामी
Harimohan Malviya & Sri Vrindavan Bihari Goswami
ISBN : 978-81-954239-1-0
52/-52/-PUBLICATION
54-विश्वलोक में ब्रज संस्कृति
Viswalok m Braj Sanskriti

अवध क्षेत्र में व्याप्त श्रीकृष्ण संबंधी लोक कथाओं एवं गीतों का संग्रह
Preview
2022डॉ. विद्याबिन्दु सिंह
Dr. Vidyabindu Singh
ISBN : 978-81-954239-9-6
125/-125/-PUBLICATION
55-गीतामृत
Geetamrit

बीसवीं सदी में मानव संजीवन शास्त्र
श्रीमद्भगवद्गीता पर श्रीकृष्णदत्त पालीवाल की टीका 
Preview
2022(लेखक) श्रीकृष्णदत्त पालीवाल
(संपा.) डॉ० राजेश शर्मा
[Wri.] Sri Krishna Dutt Paliwal
[Ed.] Dr. Rajesh Sharma
ISBN : 978-81-954239-3-4
300/-300/-PUBLICATION
56-ब्रज की लोक परम्परा में श्रीराम
Braj ki Lok Prampara m Sri Ram
ब्रज लोक में व्याप्त श्रीराम संबंधी विवरणें एवं संदर्भों का संकलन
Preview
2022-23 डॉ० चन्द्रप्रकाश शर्मा 
Dr. Chandra Prakash Sharma
ISBN : 978-81-945926-3-1
220/-220/-PUBLICATION
57- वन देवी वृन्दा
Van Devi Vrinda 

वन देवी वृन्दा से जुड़े सन्दर्भों की खोज, संकलन और अभिलेखीकरण 
पर केन्द्रित
Preview
2022-23डॉ० राजेश शर्मा
Dr. Rajesh Sharma
 ISBN: 978-81-945926-1-7
360/-360/-PUBLICATION
58-यमुना: द एटर्नल स्ट्रीम ऑफ कल्चर
यमुना एंड यमुनाष्टक

Yamuna : the eternal stream of culture
Yamuna And Yamunastak
यमुना और यमुनाष्टक की पुस्तक का अंग्रेजी अनुवाद
2022-23आचार्य वृंदावन बिहारी
Acharya Vrindavan Bihari
ISBN : 978-81-945926-2-4
600/-600/-PUBLICATION
59-ब्रजभाषा साहित्य में अष्टयाम काव्य
Braj Bhasha Sahitya m Ashtyam Kavya

ब्रज के मन्दिर – देवालयों में की जाने वाली अष्टयाम सेवा – उपासना पर आधारित रचित साहित्य पर केन्द्रित
2022-23डॉ. करुणेश उपाध्याय
Dr. Karunesh Upadhayay
ISBN : 978-81-945926-5-5
600/-600/-PUBLICATION
60- भरत मिलाप : कोसी कलां की रामलीला
Bharat Milap : Koshi Kalan ki Ramlila
कोसी कलां में आयोजित होने वाले भरतमिलाप मेले का सर्वेक्षण एवं अभिलेखीकरण
2022-23लेखक : ब्रजगोपाल राय ‘चंचल
संपादक : डॉ. लवकुश द्विवेदी
[Writer] Braj Gopal Rai ‘Chanchal’
[Edit.] Dr. Luvkush Diwedi
ISBN : 978-81-945926-4-8
490/-490/-PUBLICATION
61-चित्रित पोस्टकार्ड
Illustrated Postcards

संस्थान में संगृहीत दुर्लभ पेंटिंग्स पर आधारित
60/-60/-PUBLICATION
वृन्दावन शोध संस्थान
Logo